Home / Religious / 27 जुलाई: मंगला गौरी व्रत की सबसे आसान विधि

27 जुलाई: मंगला गौरी व्रत की सबसे आसान विधि

"
"

श्रावण मास में आने वाले सभी मंगलवार को विवाहित महिलाएं मंगला गौरी माता का व्रत रखती हैं। इस वर्ष यह व्रत 27 जुलाई 2021 को मनाया जा रहा है। आइए जानते हैं श्रावण मास में मंगला गौरी व्रत की सबसे सरल पूजा विधि-

"

श्रावण मास के प्रत्येक मंगलवार को गौरीजी की पूजा की जाती है।

यह व्रत केवल लड़कियों और महिलाओं को ही करना चाहिए।

पूजा से पहले स्नान करें।

एक पाट (बजोत) पर लाल और सफेद कपड़ा फैलाकर सफेद कपड़े पर चावल के नौ छोटे ढेर और लाल कपड़े पर गेहूं के 16 छोटे ढेर बनाएं, जिसे षोडश मातृका कहा जाता है।

उसी थाली में कुछ चावल रखें और गणेश और गेहूं की मूर्ति से भरा पानी का कलश रखें।
आटे से बना चौमुखी दीपक जलाएं।

हल्की अगरबत्ती भी।

कलश पर मिट्टी से मंगला गौरी की मूर्ति बनाएं।

पहले गणेश जी की पूजा करें, फिर कलश और दीप की पूजा करें।

षोडश मातृका की पूजा के बाद मंगला गौरी की मूर्ति पर जल छिड़कें और फिर पंचामृत का छिड़काव करें। पुन: जल छिड़क कर पूजन सामग्री से पूजन करें।

याद रखें कि मूर्ति को सजाना न भूलें और गणेश को जनेऊ जरूर चढ़ाया जाता है।

आटे को सकोरा में भर कर उस पर सुपारी रखिये और आटे के अन्दर जो दक्षिणा देनी है उसे रख दीजिये. पंच सूखे मेवे और लड्डू चढ़ाकर कथा सुनें और आरती करें।

Check Also

भारत के कुछ ऐसे रहस्यमयी मंदिर जहां होती है अविश्वसनीय घटनाएं, जानिए इन घटनाओ का रहस्य

" " भारत 64 करोड़ देवी-देवताओं की भूमि है, जो अपने प्राचीन मंदिरों के लिए …

Leave a Reply

Your email address will not be published.