Home / Bollywood / मनीषा कोइराला से लेकर ममता कुलकर्णी तक, रातों रात तबाह हुआ इन स्टार्स का बॉलीवुड करियर

मनीषा कोइराला से लेकर ममता कुलकर्णी तक, रातों रात तबाह हुआ इन स्टार्स का बॉलीवुड करियर

"
"

बॉलीवुड में कई सितारों ने धमाकेदार एंट्री की, लेकिन उनका अंत उससे भी तेज था। जी हां, बॉलीवुड में ऐसे कई सितारे थे। लोगों को किससे काफी उम्मीदें थीं, लेकिन ये सितारे उम्मीदों पर खरे उतरे। वह पहले ही गुमनामी का शिकार हो चुका था। तो आइए बात करते हैं कुछ ऐसे ही सितारों के बारे में जिन्होंने अपनी मेहनत से स्टारडम और रुतबा हासिल किया है। लेकिन वह सब रातों-रात मिट्टी के ढेर में बदल गया। आइए जानते हैं। इस लिस्ट में कौन शामिल है…

"

शाइनी आहूजा
अभिनेता शाइनी आहूजा जब फिल्मों में आए तो दर्शकों को उनसे काफी उम्मीदें थीं। वह भी उन उम्मीदों पर खरे उतरे। शाइनी आहूजा ने पहली ही फिल्म हज़ारों ख्वाहिशें ऐसी के लिए फिल्मफेयर बेस्ट मेल डेब्यू अवार्ड भी जीता। पहली सुपरहिट फिल्म देने के बाद से ही हर निर्माता-निर्देशक की नजर शाइनी आहूजा पर टिकी थी। फिर उन्होंने ‘गैंगस्टर’, ‘वो लम्हे’ और ‘लाइफ इन ए मेट्रो’ जैसी हिट फिल्में दीं।
लेकिन उसके बाद एक घटना घटी जिसने शाइनी आहूजा का करियर रातों रात बर्बाद कर दिया। शाइनी आहूजा ने 2005 में फिल्मों में अपनी शुरुआत की और 2009 में अपनी नौकरानी के साथ बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार किया गया। 2 साल की गिरफ्तारी के बाद यानी 2011 में शाइनी आहूजा को 7 साल जेल की सजा सुनाई गई थी। तब से शाइनी आहूजा फिल्मों के साथ-साथ शोबिज से भी दूर हैं।

अभिनेत्री मंदाकिनी
फिल्म ‘राम तेरी गंगा मैली’ के लिए एक्ट्रेस मंदाकिनी को लोग आज भी याद करते हैं। मंदाकिनी ने 1985 में ‘मेरा साथी’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। लेकिन पहली फिल्म कुछ खास कमाल नहीं कर पाई। तभी राज कपूर की नजर मंदाकिनी पर पड़ी और उन्होंने एक्ट्रेस को फिल्म ‘राम तेरी गंगा मैली’ में कास्ट किया। इस फिल्म से मंदाकिनी रातों-रात स्टार बन गईं। इसके बाद मंदाकिनी को फिल्मों की झड़ी लग गई। उन्होंने और भी कई सुपरहिट फिल्में कीं। इन सबके बाद मंदाकिनी के करियर और जीवन में मुश्किलें आईं जब उनका नाम अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के साथ जोड़ा गया।
ऐसी खबरें थीं कि मंदाकिनी का दाऊद इब्राहिम के साथ अफेयर चल रहा था। फिर साथ में उनकी कुछ तस्वीरें भी सामने आईं। हालांकि, मंदाकिनी ने दाऊद के साथ किसी भी तरह के संबंध होने से इनकार किया। लेकिन कहा जाता है कि इसी कनेक्शन के चलते फिल्ममेकर्स ने मंदाकिनी को काटना शुरू कर दिया। मंदाकिनी को मिलने वाले फिल्म के ऑफर कम हो गए और एक वक्त ऐसा भी आया जब उनके पास कोई फिल्म नहीं बची। फिर मंदाकिनी ने 1996 में फिल्म इंडस्ट्री छोड़ दी। फिलहाल वह अपने पति के साथ योग सिखाती हैं।

फरदीन खान
दर्शकों को अभिनेता फरदीन खान से भी काफी उम्मीदें थीं। स्टार पिता फिरोज खान के बेटे फरदीन ने 1998 में फिल्म ‘प्रेम अगन’ से डेब्यू किया था। फिल्म हिट रही और इसके लिए फरदीन खान को फिल्मफेयर बेस्ट डेब्यू अवॉर्ड भी मिला। आने वाले समय में फरदीन खान कई फिल्मों में नजर आए, लेकिन साल 2001 में जब फरदीन खान को कोकीन खरीदने की कोशिश में गिरफ्तार किया गया।
जिसके बाद किए गए सारे इंतजाम उलझ गए और पल भर में फरदीन का स्टारडम फर्श पर आ गया. कहा जाता है कि फरदीन खान ने उस समय फिल्म इंडस्ट्री में वापसी करने की काफी कोशिश की थी, लेकिन बात नहीं बनी। फिर फरदीन ने 2010 में अभिनय से ब्रेक लिया और पारिवारिक जीवन में व्यस्त हो गए। तब से लेकर आज तक फरदीन खान फिल्मों से दूर हैं और एक्टिंग से भी।

मोनिका बेदी
एक समय में कई हिंदी फिल्मों में नजर आ चुकीं एक्ट्रेस मोनिका बेदी का भी करियर अच्छा चल रहा था। वह हिंदी फिल्मों के अलावा साउथ फिल्मों में भी काम कर रही थीं। लेकिन अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम के साथ उसके संबंध और बाद में गिरफ्तारी ने उसका करियर बर्बाद कर दिया। अबू सलेम से जुड़ी मोनिका बेदी का क्या नाम था, उनका फिल्मी करियर कुछ ही पलों में नीचे चला गया। अबू सलेम के साथ उनकी लव स्टोरी ने खूब सुर्खियां बटोरी थीं.

ममता कुलकर्णी
90 के दशक की स्टार एक्ट्रेस रहीं ममता कुलकर्णी की गिनती कभी टॉप एक्ट्रेस में होती थी. उन्होंने ‘करण अर्जुन’, ‘वक्त हमारा है’, ‘सबसे बड़ा खिलाड़ी’, ‘बाजी’ और ‘चाइना गेट’ जैसी कई बेहतरीन फिल्में दीं। लेकिन जिंदगी में की गई एक गलती ने ममता कुलकर्णी के करियर को डुबो दिया। बता दें कि गैंगस्टर छोटा राजन के साथ ममता कुलकर्णी का नाम जुड़ने लगा था।
इसके बाद साल 2016 में ममता कुलकर्णी और इंटरनेशनल ड्रग स्मगलर श्याम विजय गिरी उर्फ ​​विक्की गोस्वामी का भी नाम करोड़ों की एफ़्रेडिन ड्रग तस्करी मामले में आया था. जिसके बाद यह एक्ट्रेस भी रातों-रात अंधेरे के गड्ढे में चली गई।

मनीषा कोइराला
सुभाष घई की फिल्म ‘सौदागर’ से रातोंरात स्टार बनने वाली मनीषा कोइराला अपने करियर में अच्छा कर रही थीं। अच्छी फिल्मों के ऑफर मिल रहे थे और फिल्में भी हिट होने वाली थीं। लेकिन कुछ सालों के बाद मनीषा की जिंदगी में एक ऐसा मौका आया जब उन्होंने शराब को गले लगा लिया और यही बात उनके करियर को ले गई।
बताया जाता है कि 1999 में फिल्म ‘लावारिस’ के दौरान मनीषा कोइराला ने अपने बिजी शेड्यूल और स्ट्रेस को दूर करने के लिए शराब का सहारा लेना शुरू कर दिया था। इस बात पर वह भड़क गई और उसका व्यवहार भी बदल गया। उसके बाद उन्हें कम फिल्में मिलने लगीं। 2012 में मनीषा कोइराला को डिम्बग्रंथि के कैंसर का पता चलने पर इन प्रस्तावों में और गिरावट आई। मनीषा कोइराला ने कैंसर से उबरने के बाद फिल्मों में वापसी की, लेकिन वह वही आकर्षण और सफलता हासिल नहीं कर सकी जो उन्होंने अपने करियर की शुरुआत में की थी।

Check Also

शादी में लग रही थी अप्सरा माधुरी दीक्षित, चोरी छिपे लिए थे श्रीराम के संग सात फेरे

" " बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री माधुरी दीक्षित ने फिल्म इंडस्ट्री में एक अलग पहचान …

Leave a Reply

Your email address will not be published.